​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

अर्जुन को सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर की डिग्री दिखानी चाहिए - केजरीवाल

अलग - लग राज्यों में हुई, चुनावी हार को दबाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अगला सवाल  द्वापर युग के सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर अर्जुन की डिग्री के ऊपर उठाया है। गौरतलब है कि अर्जुन के सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर होने पर स्वयं राज्यवर्धन सिंह राठौर और अभिनव बिंद्रा ने अब तक कोई सवाल नहीं किया है। इसलिए भाजपा ने अरविंद केजरीवाल के आक्षेप को पूर्णतः राजनैतिक बताया है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा यदि अर्जुन के पास किसी भी विश्वविद्यालय की डिग्री नहीं हैं तो एकलव्य को सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर घोषित किया जाना चाहिए क्योंकि जिस तरह दिल्ली के लोगों ने उन्हें चुनाव में अपना अंगुठा उन्हें दान दिया था ठीक उसी तरह एकलव्य ने अपना अंगुठा अपने गुरुदेव को गुरुदक्षिणा में दिया था। अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि उनके पास एकलव्य की डिग्री के सबूत हैं।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता आशुतोष ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि अर्जुन यदि सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर हैं तो उनकी बीए और एमए की डिग्री को सामने रखा जाना चाहिए। आशुतोष ने कहा यदि अर्जुनसर्वश्रेष्ठ धनुर्धर हैं तो उन्होंने कौन सी कॅाम्पटिशन परीक्षा की तहत यह पद हासिल किया? आशुतोष ने कहा उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से "टाइपो और अंग्रेजी की बेइज्जती" में एमफील किया है और उन्हें अपनी डिग्री सामने रखने में कोई शर्म नहीं है।

केजरीवाल के इस आरोप के बाद, हमेशा की तरह भाजपा ने उड़ता हुआ तीर पकड़कर स्वयं को भोक लिया और उनके प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने एक चैनल पर जब अर्जुन के बचाव में अपना पक्ष रखना शुरु किया तो उन्हें अन्य पार्टी प्रवक्ताओं ने गलत जानकारी के लिए घेर लिया और भाजपा को इस मामले में एक बार फिर जिल्लत का सामना करना पड़ गया।

अरविंद केजरीवाल ने अर्जुन से पांच सवाल पूछे हैं और उनके पक्ष के लोगों से जल्द से जल्द जवाब देने के लिए कहा है। केजरीवाल जी के पांच सवाल निम्नलिखित हैं।

सवाल १ : क्या अर्जुन के पास सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर की डिग्री है? और यदि डिग्री है तो उनके विश्वविद्यालय को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) से मान्यता प्राप्त है?

सवाल २ : अर्जुन यदि इतने बड़े धनुर्धर थे तो किसी भी राज्य सरकार ने उन्हें पुलिस में एसपी की नौकरी क्यों नहीं दी?

सवाल ३ : अर्जुन को उनके धनुर्धारी काल में राज्य सरकार और केंद्र सरकार से कितने मैडल प्राप्त हुए?

सवाल ४ : यदि अर्जुन इतने बड़े धनुर्धर थे तो उन्हें को एक बार भी ओलंपिक में भाग लेने का मौका क्यों नहीं दिया गया?

सवाल ५ : क्या अर्जुन एकबार कलयुग में आकर आशुतोष के मुँह में बाण मारकर उन्हें बोलने से रोक सकते हैं, जैसा एकलव्य ने कुत्ते के मुँह में बाण मारकर किया था?

हमारे सूत्रों के मुताबिक यदि अर्जुन की डिग्री सामने आ जाती है तो अरविंद केजरीवाल अगला निशाना रावण के श्रेष्ठ ब्रह्माण होने पर उठायेंगे और रावण की पीएचडी डिग्री सामने लाने की मांग रखेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें