​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#हास्य - 500₹ की नोट पर छपेगी मोदी की तस्वीर, काँग्रेस और अन्य पार्टियों ने किया समर्थन

नरेंद्र मोदी की सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए 500 और 2000 की नोटों पर से गाँधी की तस्वीर हटाने का निर्णय लिया है।

नरेंद्र मोदी ने इस फैसले का स्वागत करते हुए एक भाषण में कहा, "मित्रों, गांधी जी बूढ़े हो गए हैं। नोटों पर छपते - छपते उन्हें अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कहीं आने - जाने का समय नहीं मिलता है। कुछ दिन पहले कुछ एक 2000₹ की नोट से निकलकर गाँधी जी घूमने चले गए तो पूरे देश में उसका हल्ला हो गया। अब गाँधी जी को नोट से छुट्टी दी जा रही है जिससे वो चैन और शांति से अपनी जिंदगी जी सकें। और मैं आपका चौकीदार बनकर नोट पर पहरा दूंगा।"

भाजपा के नेता किरण रिज्जू ने अपनी सरकार के इस कदम का समर्थन करते हुए कहा - गाँधी जी पुराने ज़माने के हैं। वो नोटों का खयाल भी नहीं रख पातें हैं। मोदी जी की तस्वीर नोटों पर छपने पर, मोदी जी स्वयं हर लेन - देन पर नजर रखेंगे और सभी काला बाजारियों को रंगे हाथ पकड़ेंगे।

माना जा रहा है कि भाजपा हर राज्य सरकार को 50 और 100 की नोटों पर उनके मन के हिसाब से नोट पर छपने वाली तस्वीर तय करने की स्वतंत्रता देगी। उदारहण के लिए उत्तरप्रदेश में बसपा की सरकार होने पर 50 और 100 की नॉट पर हाथी दौड़ेंगे और सपा की सरकार होने पर साईकिल भागेगी।

काँग्रेस पार्टी ने भी भाजपा का इस मुद्दे पर समर्थन करते हुए कहा कि अब गाँधी के ब्रैंडिंग से उन्हें कोई लाभ नहीं मिल रहा है इसलिए वो केंद्र में काँग्रेस की सरकार आने पर एक नए चेहरे के साथ 500 और 2000 की नोट बाजार में उतारेंगी। काँग्रेस के प्रवक्ता ने नए चेहरे की बात पर राहुल गाँधी के नाम पर कोई टिप्पणी नहीं दी है।

पोश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री मोमता बैनर्जी ने केंद्र सरकार को एक पत्र लिखते हुए सुझाया कि जब तक पोश्चिम बंगाल  में तृणमूल की सरकार रहेगी तब तक वहाँ बांगलादेश की करंसी भी कानूनी रूप से लेन-देन के लिये प्रयोग में लाई जा सकती है। पोश्चिम बंगाल के गरीब पिछड़े और अल्प संख्यक लोगों को देखते हुए मीडिया और बौद्धिक क्षमता के भारतियों ने मोमता बैनर्जी के इस कदम की सराहना करते हुए, इसे लोकतंत्र में एक सशक्त कदम बताया है।

आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे पर मोदी जी का समर्थन करते हुए दिल्ली में एक और दो रुपये की नोटों पर अरविंद केजरीवाल की तस्वीर को छापना आरंभ कर दिया है।

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत जरूरी हो गया है गाँधी जी को हटाना कहीं नहीं दिखने चाहिये अच्छा रहेगा इतिहास की किताबों से भी उनकी छुट्टी कर दी जाये । खाली नयी पीढ़ी बिगड़ जायेगी ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सबकी चुटकी ले ली आपने.... तीखा व्यंग!!

    उत्तर देंहटाएं