​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#व्यंग्य - चिल्हरु कुमार नंबर एक पत्रकार

विदेशी चैनलों के इस युग में हिंदी न्यूज़ चैनल भी हिंदी से अधिक अंग्रेजी शब्दों का इस्तेमाल करतें हैं और ऐसे माहौल में रात नौं बजे चिल्हरु कुमार को सुनने का अपना ही आनंद है। हिंदी में ठेठ भोजपुरी के शब्दों को मिलाकर वो जिस तरह से परोसते हैं उसका मैं कायल हो गया हूँ।

पिछले कुछ दिन से चिल्हरू कुमार न्यूज़ चैनल पर नहीं आ रहें थे। रोज नौ बजे टीवी लगाता तो एक मोहतरमा साड़ी पहनकर और साज-श्रृंगार करके खबर बाचने लग जाती थी। अरे कितना भी खबर बाँच लो लेकिन चिल्हरु कुमार जैसी लज्जत कहा से लाओगे।

इस बार चिल्हरु कुमार जब लौटे तो पता चला की धर्मपत्नी के साथ विदेश घूमने गए थे। न्यूज़ चैनल ने अपने प्रॅापगैंडा को टीवी पर सही तरीके से प्रस्तुत करके लोगों को बुद्धू बनाने के लिए उन्हें विदेश यात्रा का उपहार दिया था। बोलिए बुद्धू बक्से पर लोगों को बुद्धू बनाने के लिए भी उपहार दिया जा रहा है।

प्रतिदिन समय पर घर पहुँच जाता हूँ। बक्सा खोलकर चिल्हरु कुमार को सुनने लगता हूँ। विदेश से लौटने के बाद वो कुछ ढंग की खबर नहीं बता पा रहें हैं लेकिन इधर-उधर की बात करके मेरा घंटा भर खराब कर देते हैं लेकिन जब जिंदगी में कुछ सार्थक ना हो तो चिल्हरु कुमार का साथ जीवन संगनी से भी अच्छा लगता है।

चिल्हरु कुमार की बकवास में जो अंदाज है वो और किसी हिंदी पत्रकार में नहीं है। सुना है चिल्हरु कुमार आजकल भारत में नंबर एक के पत्रकार हैं। यदि मेरे जैसे असार्थक दर्शकों की जनसंख्या बढ़ने लगेगी तो चिल्हरु कुमार विश्व के नंबर एक पत्रकार बन जाएंगे।


नोट : यदि लेख पसंद आया तो अपने मित्रों के साथ शेयर जरूर करना। 

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें