​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#व्यंग्य - पाकिस्तान ने किया भारतीयों सेकुलर का पाकिस्तान में बसने का विरोध

भारत से पाकिस्तान भेजे जानेवालों की संख्या में वृद्धि के बाद पाकिस्तान की जनता सड़को पर उतर चुकी है। पाकिस्तान का बाहुल्य हिस्सा आज भी मूलभूत सुविधाओं से दूर है। वही दूसरी तरफ भारतीय सेकुलरो की पाकिस्तान में बढ़ती कॅालोनी से पाकिस्तान के नागरिकों की बची खुची सुविधाएं भी छिन सकती है।

भारतीयों की कॅालोनी के चलते उनका इस्लाम भी खतरे में आ सकता है। पाकिस्तानी लोगों का मानना है कि भारतीय सेकुलर पाकिस्तान की कट्टर छवि को दाग लगाकर उनका विश्व पटल पर नाम एक लिबरल देश के श्रेणी में डलवा सकते हैं जिससे उनकी सालों से आतंकवाद को जिंदा रखने की कोशिश का कोई लाभ नही मिलेगा।

वही भारतीय सेकुलर पाकिस्तान में महिला सशक्तिकरण की बात कर सकते हैं जिससे इस्लाम को बहुत बड़ा खतरा है क्योंकि इस्लाम का जो ज्ञान उन्होंने हासिल किया है उसमें महिलाओं का एक मात्र कार्य पुरुषों की गुलामी करना है। उन्हें ये भी डर है कि बिना हिजाब और बुरके के उनकी महिलाएँ उनसे आगे ना निकल जायें।

पाकिस्तान के कुछ समाज सेवक जल्द ही मार्च फॅार पाकिस्तान की योजना बना रहे हैं जहाँ वो सभी शुक्रवार को अपने अपने घर से मस्जिद की तरफ चलेंगे और नमाज पढकर के अल्लाह से दुआ करेंगे कि भारतीयों को पाकिस्तान आने से रोके और वही कुछ राजनैतिक लोग भी भारत सरकार को एक ज्ञापन सौंपकर वहाँ के भाजपा नेताओं से निवेदन करेंगे कि गरीबी, भुखमरी, और बेरोजगारी की मार झेल रहे पाकिस्तान को अपने सेकुलर समाज के लोगों को भेजकर पूर्णतः सत्यानाश ना करें।

पाकिस्तान की आवाम को सपोर्ट करने के लिए भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी के शौहर जल्द ही भारत शिफ्ट होकर भारतीय सेकुलर को पाकिस्तान से मोह भंग करने की हिदायत देंगे। उनका ये भी मानना है कि पाकिस्तान यदि इतना ही अच्छा देश होता तो वो क्यों भारतीय लड़की से शादी करके अपने देश में मुहाजिर कहलाते और हा जिस मुल्क की आवाम अपने धर्म संप्रदाय के लोगों को मुहाजिर कहकर बुलाती है वो भारतीय सेकुलरो को पत्थर फेंक फेंककर जान से मार देगी।
धन्यवाद
@पुरानीबस्ती

पुरानीबस्ती को सब्सक्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें

इस व्यंग्य पर अपनी टिप्पणी हमे देना ना भूलें। अगले सोमवार फिर मिलेंगे एक नए व्यंग्य के साथ।

टिप्पणियाँ