​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#कविता - कब्र में जिंदा हूँ













क्यों नही सोने देते मुझको,
जब जिंदा था तब पर भी यही करते थे,
यहा तो सुकून दो मुझे,
हर रोज चले आते हो दफनाने
एक मुर्दा लाश को जिंदा कर जाते हो।

अभी तो गला नही मैं पूरी तरह,
सुना है कुछ दिन में
खोदकर मुझको 
एक छोटे बक्से में भर दोगे,
अब यही बचा है
मुर्दों को भी चैन की सांस ना लेने देना।

वो जो क्रॅास
मेरे सीने पर लगाया है,
हठा दो उसे
चुभता है मुझे,
करवट भी नही ले पाता
क्योंकि जगह कम है यहाँ।

पड़ोस की कब्र में
एक नया मुसाफिर आया है,
बड़ा खुश मिजाज है,
कहता है ये जिंदगी
जीने मे बड़ा मजा आता है।

अब मनाकर दो लोगों को
ना जलाया करे मोमबत्ती
उसकी पिघलती बूँदें
जब गिरती है मेरे ऊपर
तो छाले निकल आते हैं।

चलो अब चलता हूँ,
आज सारी रात
जागकर काट दी,
चलो अब चलकर सोता हूँ।


टिप्पणियाँ